रघुवर सरकार की डिजिटल व्यवस्था असफलः बाबुलाल मरांडी

 

रांची। झारखंड विकास मोर्चा के अध्यक्ष बाबुलाल मरांडी ने रविवार को झारखंड सरकार को जमकर आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि झारखंड सरकार अपनी नाकामियों को उपलब्धियां बता रही है।




रघुवर सरकार की डिजिटल व्यवस्था असफल

बाबुलाल मरांडी ने कहा कि सरकार अपने 1000 दिन पूरे होने के अवसर पर पीठ थपथपा रही है कि उसने 11.64 लाख फर्जी राशनकार्ड रद्द कर 225 करोड़ रूपये बचा लिये, वहीं 2.71 लाख फर्जी वृद्धा पेंशन लाभुकों के नाम रद्द कर 86 करोड़ रूपये की बचत की। जबकि सच्चाई यह नहीं है। दरअसल राज्य सरकार की डिजिटल व्यवस्था असफल होने से वास्तविक लाभुक ही इन योजनाओं के लाभ लेने से वंचित हो रहे हैं और सरकार अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए इसे फर्जीवाड़ा का नाम दे रही है।

तकनीक ने पीडीएस के भ्रष्टाचार को किया कम-रघुवर दास

जनता अनपढ़ व्यवस्था डिजिटल

उन्होंने कहा कि हकीकत यह है कि राशनकार्ड व वृद्धापेंशन वाले लाभुक फर्जी नहीं है बल्कि सरकार ही फर्जीवाड़ा कर रही है। 2011 का सर्वे बताता है कि राज्य में 54 फीसदी पुरूष एवं 27 फीसदी महिलाएं ही साक्षर हैं। ऐसे में इन पर पेचींदा डिजिटलाईजेशन व्यवस्था थोप देना और सरकार द्वारा डिजिटल व्यवस्था का ठीक प्रकार से क्रियान्वयन नहीं करवाना ही इस व्यवस्था की असफलता का कारण है।

विश्व के आदिवासी होंगे एकजुट- रघुवर दास

कुव्यवस्था के खिलाफ होगा आंदोलन

जेवीएम सुप्रीमों ने कहा कि कितनी अजीब बात है कि सरकार लाभुकों को राशन व पेंशन आदि उपलब्ध कराने की नियम को सहज और सरल बनाने की बजाय लाभुकों को ही फर्जी बताकर पीठ थपथपा रही है। संविधान कहता है कि किसी को भी अनाज व अन्य बुनियादी सुविधाओं से वंचित नहीं किया जा सकता है। अगर 15 नवम्बर, 2017 तक इस कुव्यवस्था में सुधार नहीं लाती है तो लाभुकों को लेकर जोरदार आंदोलन किया जाएगा।

%d bloggers like this: