दुमका में सम्पन्न हुआ 13वां राष्ट्रीय कराटे चैंपियनशिप 2017, 152 खिलाड़ियों ने लिया हिस्सा

 

दुमका। दुमका के इंडोर स्टेडियम में चल रहे दो दिवसीय राष्ट्रीय रेनबूकाता कराटे डू चैंपियनशिप 2017 का रविवार को भव्यता के साथ समापन हो गया। 25 और 26 नवंबर को आयोजित 13वीं राष्ट्रीय रेनबूकाता कराटे डू चैंपियनशिप 2017 में विभिन्न प्रदेशों के कुल 152 खिलाड़ियों ने दिखाया अपना दमखम दिखाया। इस चैंपियनशिप का शुभारंभ मंत्री लुईस मरांडी ने शनिवार को किया था।

बालिकाओं के काता श्रेणी में 10 वर्ष से कम उम्र के लिए हुई प्रतियोगिता में झारखंड की दिव्या कुमारी, बिहार की रूपा कुमारी और झारखंड की बेला कुमारी ने क्रमशः स्वर्ण, रजत और कांस्य पदक प्राप्त किया।

15-18 वर्ष आयु वर्ग की प्रतियोगिता में झारखंड की यशोदा कुमारी, नाजरीन खातून तथा खुशबू कुमारी ने क्रमशः स्वर्ण, रजत और कांस्य पदक प्राप्त किया। 15-18 आयुवर्ग में 40 किलोग्राम भारवर्ग में झारखंड की सीता कुमारी, खुशबू कुमारी तथा शबनम खातुन ने क्रमशः स्वर्ण, रजत और कांस्य पदक जीता।


12-14 वर्ष तक के लिए हुई प्रतियोगिता में झारखंड की हेमंती कुमारी, रेखा कुमारी तथा नीलम कुमारी ने क्रमशः स्वर्ण, रजत और कांस्य पदक प्राप्त किया। 18 वर्ष से ऊपर के लिए हुई प्रतियोगिता में झारखंड की बेला कुमारी, चमेली कुमारी तथा बिहार की प्रतिभा कुमारी ने क्रमशः स्वर्ण, रजत और कांस्य पदक प्राप्त किया।

काता श्रेणी के बालक वर्ग में 10 साल से कम उम्र के लिए हुई प्रतियोगिता में बिहार के पिंटू कुमार, उत्तर प्रदेश के आदित्य तथा उड़ीसा के मोहसिन खान और राहुल कुमार ने क्रमशः स्वर्ण, रजत और कांस्य पदक प्राप्त किया। 12-14 वर्ष तक के लिए हुई प्रतियोगिता में झारखंड के राजा बाबू, झारखंड के ही रवि लाल ने क्रमशः स्वर्ण तथा रजत पदक प्राप्त किया जबकि उड़ीसा के अभिषेक कुमार तथा बिहार के शाहिद अफरीदी को कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा।



15-17 वर्ष आयु वर्ग के लिए हुई प्रतियोगिता में झारखंड के प्रेमचंद कुमार  पश्चिम बंगाल के विशाल कुमार तथा बिहार के राकेश कुमार ने क्रमशः स्वर्ण, रजत और कांस्य पदक प्राप्त किया। 18 साल से ऊपर के प्रतिभागियों के बीच हुए मुकाबले में बिहार के चंदन कुमार और हरियाणा के सागर कुमार ने क्रमशः स्वर्ण और रजत पदक प्राप्त किया।

75 किलोग्राम भार वर्ग के लिए हुए मुकाबले में पश्चिम बंगाल के मिलन राय, झारखंड के प्रशांत कुमार तथा हरियाणा के गौरव कुमार ने क्रमशः स्वर्ण, रजत और कांस्य पदक प्राप्त किया।

बालकों के कुमेते वर्ग में 20 से 25 किलोग्राम भार वर्ग के लिए हुए मुकाबले में झारखंड के कुणाल राहुल तथा पिंटू कुमार ने क्रमशः स्वर्ण तथा रजत पदक प्राप्त किया जबकि उत्तर प्रदेश के अक्षय कुमार सिंह तथा उड़ीसा के मोहसीन खान को कांस्य पदक से ही संतोष करना पड़ा।


25 से 30 किलोग्राम भार वर्ग में बिहार के सोनू कुमार तथा उत्तर प्रदेश के रविशल मुर्मू ने क्रमशः स्वर्ण तथा रजत पदक प्राप्त किया जबकि झारखंड के राहु किस्कू तथा संजीत कुमार साव को कांस्य पदक से ही संतोष करना पड़ा। 31 से 35 किलोग्राम भारवर्ग में बिहार के अज्जा तथा हरियाणा के सिद्धार्थ को क्रमशः स्वर्ण तथा रजत पदक प्राप्त हुआ जबकि बिहार के तुलसी ठाकुर तथा हरियाणा के प्रांजल चिल्लर को कांस्य पदक मिला।

36 से 40 किलोग्राम भारवर्ग में हरियाणा के सागर राहुल तथा झारखंड के राजा बाबू साहू को क्रमशः स्वर्ण तथा रजत पदक मिला जबकि झारखंड के अभिषेक कुमार महतो तथा अब्दुल कलाम को कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा। 41 से 45 किलोग्राम भारवर्ग में उत्तर प्रदेश के शाहबाज अली, बिहार के नीरज कुमार तथा हरियाणा के प्रेमसागर ने क्रमशः स्वर्ण, रजत तथा कांस्य पदक प्राप्त किया।

50 से 55 किलोग्राम भार वर्ग में झारखंड के तोसिफ रजा तथा उड़ीसा के मोहम्मद फुरकान अंसारी को क्रमशः स्वर्ण तथा रजत पदक प्राप्त हुआ जबकि झारखंड के ही तौसिफ रजा तथा बिहार के दिनेश कुमार राय को कांस्य पदक प्राप्त हुआ। 61 से 65 किलोग्राम भारवर्ग में बिहार के राकेश कुमार तथा झारखंड के दिनेश कुमार को क्रमशः स्वर्ण तथा रजत पदक प्राप्त हुआ जबकि झारखंड के गौरव कुमार और जनार्दन ठाकुर को कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा।


बालिकाओं के कुमेते श्रेणी के मुकाबले में 21 से 25 किलोग्राम भारवर्ग में झारखंड की रूपा कुमारी तथा सायरा बानो ने क्रमशः स्वर्ण तथा रजत पदक प्राप्त किया। 25 से 30 किलोग्राम भारवर्ग में झारखंड की हेमंती कुमारी तथा बसंती कुमारी ने क्रमशः स्वर्ण तथा रजत पदक प्राप्त किया जबकि बिहार की संगीता कुमारी तथा झारखंड की समा परवीन को कांस्य पदक से ही संतोष करना पड़ा।

31 से 35 किलोग्राम भारवर्ग में झारखंड की गायत्री कुमारी तथा बॉबी कुमारी को क्रमशः स्वर्ण तथा रजत पदक जबकि झारखंड की पायल कुमारी तथा बिहार की पम्मी कुमारी को कांस्य पदक मिला। 36 से 40 किलोग्राम भारवर्ग में झारखंड की संगीता और खुशबू कुमारी ने क्रमशः स्वर्ण और रजत पदक जबकि बिहार की निशू कुमारी और साइस्ता परवीन ने कांस्य पदक प्राप्त किया।

दो दिन तक चले इस प्रतियोगिता में विभिन्न राज्यों के 97 बालक एवं 55 बालिकाओं सहित कुल 152 खिलाड़ियों ने अपने दमखम का प्रदर्शन किया। इस दौरान कार्यक्रम की उद्घोषणा शिक्षक जीवानंद यादव तथा मंच समन्वयन शिक्षक मदन कुमार ने किया।


इस अवसर पर सिदो कान्हु मुर्मू विश्वविद्यालय के कुलपति मनोरंजन प्रसाद सिन्हा,  नगर पार्षद अध्यक्ष अमिता रक्षित, विश्व विद्यालय के खेल पदाधिकारी डॉ रंजीत कुमार सिंह, कलासंस्कृति प्रभारी अंजुला मुर्मू, महाविद्यालय निरीक्षक पी.पी.सिंह, उमाशंकर चैबे,  विमल भूषण गुहा, वरुण कुमार ने खिलाड़ियों को पुरस्कृत कर अपनी शुभकामनाएं दी।

इस अवसर पर मदन कुमार, जीवानंद यादव, मनोज कुमार घोष, प्रदीप्तो मुखर्जी, के.एन.सिंह, दिलीप तपस्वी, कुणाल झा, मृणाल झा सहित विभिन्न राज्यों से आए खेलकूद संघ के प्रतिनिधि तथा बड़ी संख्या मे खिलाड़ी उपस्थित थे ।

आयोजन को सफल बनाने में इंडियन रेनबूकान कराटे एसोसिएशन के निदेशक अरविंद कोटनाला, झारखंड रेनबूकान कराटे एसोसिएशन के सचिव नारायण महतो, उपाध्यक्ष विनोद सिंह दारा, मास्टर नरेन्द्र सिंह, जिला सचिव दुमका अजय कुमार, संगठन महामंत्री विनोद मुर्मू, कोषाध्यक्ष प्रमोद राउत, उप सचिव संजय सिंह, सदस्य क्रमशः किशन सिंह, संदीप कुमार जय, दीपक महतो, किशन कुमार सिंह, जय किशन सिंह, सुभाष स्वर्णकार, रवि फ्रांसिस मरांडी, राहुल कुमार राय के साथ साथ रेफरी के रूप में झारखंड के धनंजय प्रसाद, मिथुन कुमार नायक, युगल किशोर महतो, जितेंद्र कुमार महतो,  बंगाल के मिलन शुब्बा, उड़ीसा के अब्दुल मतीन अंसारी, बिहार के प्रशांत कुमार, छत्तीसगढ़ के संदीप पटेल, हरियाणा के राजू राठी, दिल्ली के गोविंद गोस्वामी, उत्तर प्रदेश के संतोष पटेल आदि की भूमिका उल्लेखनीय रही।



 

%d bloggers like this: