गिरिडीह के कार्यपालक दंडाधिकारी निलंबित

 

रांची। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने गिरिडीह के कार्यपालक दण्डाधिकारी प्रवीण रोहित कुजूर को अनाधिकृत रूप से अनुपस्थित रहने के कारण निलंबित करने का आदेश दिया है। ज्ञात हो कि प्रवीण रोहित कुजूर 2016 से ही अनाधिकृत रूप से अपने कार्यालय से अनुपस्थित हैं। 18 अगस्त से ही उपायुक्त कार्यालय के द्वारा उनसे दूरभाष पर सम्पर्क करने का प्रयास किया जा रहा है लेकिन अब तक उनसे सम्पर्क नहीं हो सका है।

समाचार पत्र के माध्यम से भी सूचना प्रकाशित करते हुए 22 अगस्त तक गिरिडीह  के कार्यपालक दण्डाधिकारी को अपने पद पर योगदान देने का निर्देश दिया गया था। उन्होंने इस आदेश का भी पालन नहीं किया। इनका यह कृत्य झारखण्ड सरकारी सेवक आचार नियमावली के नियम-3 के प्रतिकूल है।

इन सभी प्रयासों के बाद लम्बे समय से अनधिकृत अनुपस्थिति के कारण प्रवीण रोहित कुजूर, कार्यपालक दंडाधिकारी, गिरिडीह को निलंबित  कर दिया गया है। उनका मुख्यालय कार्मिक, प्र0सु0 तथा राजभाषा विभाग, झारखण्ड, राँची का कार्यालय, प्रोजेक्ट भवन, धुर्वा, राँची निर्धारित किया गया है। साथ ही साथ, उनके विरूद्ध कार्यवाही चलाने हेतु उपायुक्त, गिरिडीह से आरोप गठित कर प्रपत्र- ‘क’ की माँग की गयी है।

 

 

 

%d bloggers like this: