जयराम ठाकुर बने हिमाचल प्रदेश के 14वें मुख्यमंत्री

 

शिमला भाजपा नेता जयराम ठाकुर ने ऐतिहासिक रिज मैदान में आयोजित समारोह के दौरान बुधवार को हिमाचल प्रदेश के 14वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। ठाकुर के साथ उनके मंत्रिमंडल के 11 अन्य मंत्रियों ने भी पद की शपथ ली।

प्रधानमंत्री सहित वरिष्ठ नेता रहे मौजूद

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और कई अन्य केन्द्रीय मंत्री भी शपथ ग्रहण समारोह में उपस्थित रहे।

कैबिनेट में छह नए चेहरे शामिल

हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने 52 वर्षीय ठाकुर और अन्य मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलायी। स्वयं सेराज से छठी बार भाजपा विधायक चुने गये ठाकुर ने अपने मंत्रिमंडल में छह नये चेहरों को शामिल किया है। मुख्यमंत्री और 11 अन्य मंत्रियों के शपथ ग्रहण के साथ ही 12 सदस्यीय कैबिनेट की संख्या पूरी हो गयी है। दो अन्य विधायकों को विधानसभा अध्यक्ष और उपाध्यक्ष बनाया गया है। हिमाचल प्रदेश विधानसभा के नये अध्यक्ष राजीव बिंदल होंगे।

14वें मुख्यमंत्री के रूप में ली शपथ

जयराम ठाकुर प्रदेश के दूसरे सबसे बड़े जिले मंडी से प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने वाले दूसरे व्यक्ति हैं। वह राज्य के 14वें मुख्यमंत्री और प्रदेश में इस पद पर आसीन होने वाले छठे व्यक्ति हैं। समारोह के दौरान सुरेश भारद्वाज और गोविंद सिंह ठाकुर ने संस्कृत में, जबकि अन्य ने हिन्दी में शपथ ली। ठाकुर की कैबिनेट में एक मात्र महिला चेहरा है सरवीन चौधरी।

कैबिनेट में मुख्यमंत्री सहित होंगे 12 मंत्री

जयराम ठाकुर के मंत्रिमंडल में शामिल 11 मंत्री हैं। इनमें मोहिन्दर सिंह, कृष्ण कपूर, सुरेश भारद्वाज, अनिल शर्मा, सरवीन चौधरी, राम लाल मारकंडा, विपिन परमार, वीरेन्द्र कंवर, गोविन्द सिंह ठाकुर, राजीव सैजल और विक्रम सिंह शामिल हैं। कैबिनेट में मुख्यमंत्री के अलावा उनके गृह जिला मंडी से दो और मंत्री शामिल हैं। सबसे बड़े कांगड़ा जिले से चार जबकि शिमला, सोलन, कुल्लू, ऊना और लाहौल-स्पीति से एक-एक विधायक को मंत्री बनाया गया है।

रिजर्व सीट पर आगे रही बीजेपी

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री जयप्रकाश नड्डा और पूर्व मुख्यमंत्री प्रेमकुमार धूमल के गृह जिलों बिलासपुर और हमीरपुर, तथा चम्बा और सिरमौर से किसी विधायक को मंत्रिमंडल में स्थान नहीं मिला है। कांगड़ा और मंडी जिलों से भाजपा को 20 सीटों पर जीत मिली है। उसे अनुसूचित जातियों के लिए सुरक्षित 17 में से 13 सीटों पर जबकि अनुसूचित जनजातियों के लिए सुरक्षित तीन में से दो सीटों पर जीत मिली है।

कैबिनेट में जाति का गणित

कैबिनेट में मुख्यमंत्री, मोहिन्दर सिंह, विपिन परमार, वीरेन्द्र कंवर, गोविंद सिंह ठाकुर और विक्रम सिंह छह मंत्री राजपूत समुदाय से हैं। वहीं तीन ब्राह्मण सुरेश भारद्वाज, अनिल शर्मा और राम लाल मारकंडा तथा दो ओबीसी नेता कैबिनेट में हैं। इनमें से मारकंडा आदिवासी ब्राह्मण हैं।

%d bloggers like this: