अमड़ापाड़ाः लेवी का पैसा लेने आये कथित नक्सली को पुलिस ने मार गिराया

 

पाकुड़। अमड़ापाड़ा थाना क्षेत्र के गोविंदपुर-साहेबगंज मुख्य पथ में शुक्रवार की रात को पुलिस ने एक कथित नक्सली कुणाल मुर्मू को मार गिराया है। जबकि एक अन्य को गिरफ्तार किया गया है। मृतक कुणाल मुर्मू नक्सलियों के नाम पर लेवी की मांग की थी। पाकुड़ एसपी शैलेंद्र वर्णवाल के नेतृत्व में पुलिस टीम ने लेवी का पैसा लेकर मोटरसाइकिल से भाग रहे कुणाल मुर्मू को मार गिराया। जबकि एक अन्य को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस के अनुसार अपराधी चार की संख्या में थे। अपराधी दो मोटरसाइकिल में सवार थे। दो अपराधी भागने में सफल रहे।

मृत कथित नक्सली कुणाल मुर्मू

मृतक कुणाल मुर्मू से बरामद सामान

कुणाल मुर्मू महेशपुर थाना के डुमरघटी गांव का रहने वाला था। उसके पिता का नाम नाजीर मुर्मू है। उसके पास से पुलिस ने एक देशी कट्टा, एक पाइपगन, तीन जिंदा कारतूस और लगभग पचास हजार रूपये बरामद किया है। कुणाल मुर्मू जिस मोटरसाइकिल में सवार था, वो मोटर साइकिल भी पुलिस के कब्जे में है।

मृत कथित नक्सली कुणाल मुर्मू के पास से बरामद मोटरसाइकिल

पारिवारिक विवाद में युवक ने की अपने भाई की हत्या

गिरफ्तार बादल सोरेन

पुलिस ने एक अन्य कथित अपराधी को गिरफ्तार किया है। कथित अपराधी विशनपुर गांव के मांझी टोला का रहने वाला है। उसने अपना नाम बादल सोरेन और पिता का नाम रावण सोरने बताया। गिरफ्तार कथित अपराधी ने बताया कि वो ट्रैक्टर ड्राइवर का काम करता है।

गिरफ्तार कथित नक्सली बादल सोरेन

पाकुड़ एसपी शैलेंद्र प्रसाद वर्णवाल का बयान

पाकुड़ एसपी शैलेंद्र प्रसाद वर्णवाल ने बताया कि नक्सली दो मोटरसाइकिल से आये थे। उनको पुलिस टीम ने घेर लिया था। पुलिस को देखते ही नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी। लेकिन पुलिस की जवाबी कार्रवाई में कुणाल मुर्मू को मार गिराया गया। बाकि रात के अंधेरे में फरार हो गये। घटनास्थल से एक अन्य को गिरफ्तार किया गया है।

नक्सलियों ने 80 लाख की मांगी थी लेवी

नक्सलियों ने लिट्टीपाड़ा के कुमारभाजा गांव में लगभग 12 करोड़ की लागत से बन रहे एकलव्य स्कूल के संवेदक से 80 लाख रूपये लेवी मांगी थी। लेवी का पैसा लेने के लिए ही कथित नक्सलियों ने संवेदक को फोन कर घटनास्थल पर बुलाया था। लेकिन पुलिस की सक्रियता से अपराधियों के इरादे कामयाब नहीं हो पाये। फरार अपराधियों को पकड़ने के लिए पुलिस रात भर इलाके में सर्च करती रही।

खेल महाकुंभ की तैयारियों में जुटा है प्रशासन

घटनास्थल पर मौजूद अधिकारी

पाकुड़ एसपी शैलेंद्र वर्णवाल की इस कार्यवाही से अमड़ापाड़ा थाना भी अंजान थी। घटना के घटित होने के बाद अमड़ापाड़ा थाना को इस बात की जानकारी मिली। उसके बाद घटनास्थल पर एसपी ने खुद थाना प्रभारी के अलावे डीएसपी और सीडीपीओ को बुलाया।

 

 

%d bloggers like this: