यूं तो हर गली कूचे में ब्यूटी पार्लर सैलून और स्पा आपको मिल जाएंगे। पर अब सौंदर्य के व्यवसाय से जुड़ी महिलाएं भी बाकायदा इसमें डिग्री और डिप्लोमा कोर्स कर रही हैं। ब्यूटी एंड वेलनेस कोर्स से जुड़कर महिलाएं न केवल हुनरमंद बन रही हैं बल्कि स्वावलंबन की मंजिल के निकट भी पहुंच रही हैं। कोर्स पूरा करने वाली छात्राओं को स्कॉलरशिप के रूप में 12 हजार रुपये मिलेंगे। खुद का ब्यूटी ट्रेनिंग स्कूल या पार्लर संचालन के लिए कम ब्याज दर पर बैंक से लोन में भी मदद मिलेगी। 

136 महिलाएं ले रहीं प्रशिक्षण 

एसएसएलएनटी महिला कॉलेज में कम्युनिटी कॉलेज के तहत संचालित कोर्स में 36 महिलाएं प्रशिक्षण ले रही हैं। एक वर्षीय डिप्लोमा कोर्स पूरा होते ही उन्हें डिप्लोमा सर्टिफिकेट के साथ छात्रवृत्ति की रकम भी मिलेगी। सर्टिफिकेट नेशनल स्किल डेवलपमेंट काउंसिल और सेक्टर स्कील काउंसिल की ओर से जारी होंगे जिसकी पूरे देश में मान्यता है। 

कॉलेज की टॉपर छात्राएं अब अतिथि शिक्षक 

ब्यूटी एंड वेलनेस की तीन टॉपर छात्रएं अब कॉलेज की अतिथि शिक्षक हैं। इनमें चंद्रकांता झा, सुतापा बनर्जी और संजना शामिल हैं। दाखिला लेने वाली छात्रओं के लिए ब्यूटी स्टूडियो और अत्याधुनिक मशीनें उपलब्ध हैं ही साथ ही विशेषज्ञों से विशेष प्रशिक्षण की भी व्यवस्था कराई गई है। अतिथि शिक्षकों का कहना है कि बदलते वक्त के साथ सौंदर्य उद्योग का डिमांड बढ़ रहा है। 1मेडिकल, इंजीनियरिंग, एमबीए से अलग एक दुनिया है जहां महिलाएं स्वयं को स्थापित कर सकती हैं। 

 

%d bloggers like this: