जीवंत समाज़ का दर्पण है खेलकूद: डीआईजी दुमका

दुमका। दुमका के इनडोर स्टेडियम में चांसलर ट्रॉफी बैडमिंटन प्रतियोगिता का उद्धघाटन किया गया। मुख्य अतिथि पुलिस उप महानिरीक्षक अखलेश कुमार झा और विशिष्ठ अतिथि दुमका के उपायुक्त मुकेश कुमार ने दीप प्रज्वलित कर प्रतियोगिता का उद्धघाटन किया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता एस. के. एम. यू के कुलपति प्रो. मनोरंजन कुमार सिन्हा ने की और कार्यक्रम का संचालन  एस. पी.महिला कॉलेज की व्याख्याता अंजुला मुर्मू ने किया।
जीवंत समाज का दर्पण है खेलकूद
संथाल परगना के पुलिस उपमहानिरीक्षक अखिलेश कुमार झा ने खिलाड़ियों को उत्साहित करते हुए कहा की खेलकूद जीवंत समाज का दर्पण है। छात्र छात्राओं को पढ़ाई लिखाई के साथ-साथ खेल-कूद में भी बढ़ चढ़कर भाग लेना चाहिए। खेल-कूद शारीरिक विकास के साथ-साथ बच्चों के मानसिक विकास में भी कारगर होता है।
जिला उपायुक्त मुकेश कुमार ने कहा कि झारखंड में कई प्रतिभाशाली खिलाड़ी हैं और अपने कौशल का लोहा मनवाने में कोई कसर नहीं छोड़ते। झारखण्ड की भूमि खेल प्रतिभाओं से भरी पड़ी है हाल के दिनों में झारखंड से कई खिलाड़ियों ने देश विदेश में अपने खेल कौशल का परचम लहराया है और झारखंड को गौरवान्वित किया है।
कार्यक्रम में सिदो-कान्हू मुर्मू विश्वविद्यालय के खेल प्रभारी डॉ. रंजीत कुमार सिंह, जिला खेलकूद संघ के सचिव उमाशंकर चौबे आदि ने भी खिलाड़ियों को संबोधित करते हुए प्रोत्साहित किया।
उद्घाटन समारोह की अध्यक्षता कर रहे सिदो कान्हू मुर्मू विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफ़ेसर मनोरंजन प्रसाद सिन्हा लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि विश्वविद्यालय प्रशासन छात्र-छात्राओं के पढ़ाई लिखाई के साथ साथ उनके कला संस्कृति एवं खेल कौशल का भी ध्यान रख रही और बढ़ावा देने क लिए हर संभव प्रयास कर रही है।
इस अवसर पर सिदो कान्हू मुर्मू विश्वविद्यालय के खेल पदाधिकारी हिमांशु डुंगडुंग, महाविद्यालय  निरीक्षक डॉ परमानंद सिंह,  एस. पी  कॉलेज के प्राचार्य डॉ गगन कुमार ठाकुर,  डॉ विनोद झा, रीना लाकड़ा,  चंपावती सोरेन, डॉ पीयूष कुमार ,डॉ संजय कुमार सिंह ,डॉ स्वतंत्र कुमार सिंह, डॉ ज्ञानेंद्र यादव ,डॉ प्रशांत कुमार डा.अजय सिन्हा के साथ-साथ जिला खेलकूद संघ के उपाध्यक्ष राहुल कुमार दास, जिला बैडमिंटन संघ के सचिव दीपक कुमार झा, जिला कला संस्कृति एवं खेल कूद संघ के कोषाध्यक्ष मदन कुमार झारखंड कला केंद्र के प्राचार्य गौर कांत झा और बीएड  कॉलेज की छात्र छात्राएं आदि मौजूद थे।
%d bloggers like this: