सीएनटी-एसपीटी एक्ट में संशोधन के खिलाफ बोले शिबू सोरेन

 

जामताड़ा।  “राज्य में सीएनटी-एसपीटी एक्ट में बदलाव करके मूलवासियों-आदिवासियों जमीनों को छिनकर रघुवर सरकार बाहरी लोगों और उद्योगपतियों को देना चाहती है. इस एक्ट के बदलाव से सरकार की गलत मंशा उजागर हुई है.” झामुमो सुप्रीमो शिबू सोरेन ने ये बातें कही.

 

जामताड़ा के पार्टी कार्यालय में पत्रकारों से रूबरू होने के दौरान श्री सोरेन ने कहा कि यह एक्ट झारखण्ड के आदिवासी-मूलवासीयो के विरूद्ध बनाया गया है, अगर यह बिल दोबारा लाने का प्रयास सरकार करती है तो इसपर उन्हें गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे. रघुवर सरकार खुले आम जमीन का सौदा कर रही है.

 

झारखण्ड का विकास बिना जमीन के प्रकृति को बदले भी किया जा सकता है. झारखण्ड के गरीब और भोली-भाली जनता को रुला कर और बेदखल करके झारखंड का विकास नहीं किया जा सकता है. सरकार पूंजीपतियों की कटपुतली बन कर काम कर रही है और इसका खामियाजा गरीबों और शोषितों को उठाना पड़ेगा.

 

%d bloggers like this: