चतरा को मिला मुख्यमंत्री रघुवर दास का सौगात

राजन राज,जोहार खबर 

चतरा. मुख्यमंत्री रघुवर दास ने चतरा में आयोजित एक कार्यकर्म के दौरान  223 करोड़ की योजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास किया। जिमसे चतरा के 169 गांव-टोला को सड़क से जोड़ने की परियोजना भी शामिल है. मुख्यमंत्री ने अपने भाषण के दौरान लोगों को भरोसा दिलाया कि चतरा में बहुत ही जल्द 330 करोड़ की लागत  से पाइपलाइन परियोजना भी प्रारम्भ किया जायेगा.

मुख्यमंत्री ने चतरा में जनता के बीच जाकर  अपने विचार गांव वालों के साथ बैठकर साझा किया. इस दौरान वो कान्हाचट्टी प्रखंड स्थित कोलहैया गांव में  इनायत मियां के परिवार से भी मिले, उन्होंने इनायत से कहा कि ’इनायत जी आपकी कितनी जमीन है उसमें अच्छे से खेती करें,बेकार नहीं बैठे काम करें काम करने से थकान नहीं होती,आत्मसंतुष्टि की प्राप्ति होती है.’ लोगों से बात-चीत के दौरान मुख्यमंत्री   एक दिव्यांग महिला(शांति) से भी मिले, शांति की कठिनाइयों  को देख कर मुख्यमंत्री ने  उसे 1 लाख रूपए की  राशि प्रदान किया.

मुख्यमंत्री ने विद्युत सबस्टेशन का किया शिलान्यास

मुख्यमंत्री ने चतरा में अपने कार्यकर्म के दौरान 3 सबस्टेशन का उद्घाटन और 2 सबस्टेशन का शिलान्यास किया.श्री दास ने कहा कि हमारी सरकार निरंतर राज्य में आधारभूत संरचना, पानी और बिजली की व्यवस्था बेहतर बनाने का प्रयास कर रही है. किसी भी राज्य के लिए आर्थिक प्रगति का आधार वहां के सड़क,पानी और बिजली से तैयार होता है,हमारी सरकार इन सभी चीजों को सबसे पहली प्राथमिकता मान कर कार्य कर रही है।

150 सड़क निर्माण  योजना का हुआ शिलान्यास    

मुख्यमंत्री ने चतरा के 169 गांव के सड़क निर्माण हेतु 150 सड़क और 70 लघु, माध्यम और वृहत पुल कि योजना का शिलान्यास किया. इस योजना के तहत ऊंटामोड-तमासीन वाया कान्हाचट्टी पथ एवं कान्हाचट्टी गुल्ली मोड़ पथ चैड़ीकरण व मजबूतीकरण (33.2 किलोमीटर), हंटरगंज-प्रतापपुर वाया पांडेयपुरा (29.75 किलोमीटर) चैड़ीकरण व मजबूतीकरण, नीमाकातु-कौरा वाया लोधेया घोरीघाट (25.82 किलोमीटर) उच्च स्तरीय पुल सहित पुर्ननिर्माण कार्य, अदौरिया मोड़ से बरूराशरीफ नारायणपुर पथ निर्माण तथा जमुआ से मडमपुर वाया जोगीडीह पथ निर्माण करवाया जायेगा.

2018 तक राज्य खुले में शौच से मुक्त हो जायेगा – मुख्यमंत्री

श्रीदास ने अपने भाषण के दौरान कहा कि सामाजिक जिम्मेवारी के तहत सीसीएल 27 करोड़ रुपये चतरा, हजारीबाग और रामगढ़ में शौचालय निर्माण हेतु व्यय करेगा। हमारा लक्ष्य है कि 2018 तक राज्य खुले में शौच से मुक्त हो जाये। इससे हमारा राज्य स्वस्थ समाज कि ओर एक और कदम बढ़ाएगा. राज्य में बहुत तेज़ी से शौचालय निर्माण का कार्य चल रहा है. बहुत जल्द हम अपने निर्धारित लक्ष्य को हासिल कर लेंगे.

यहां के लोगों के मन में उग्रवाद नहीं, जमीं पर उग्रवाद है – चतरा सांसद  

मुख्यमंत्री के चतरा  कार्यकर्म के दौरान वहां के सांसद सांसद श्री सुनील सिंह भी मौजूद थे.अपने भाषण के दौरान उन्होंने ने कहा कि राज्य सरकार ने इस उपेक्षित गांव का चयन ‘सरकार आपके द्वार’ हेतु किया है, जो सरकार के विकास के प्रति कटिबद्धता का परिचायक है। 70 वर्ष पूर्व हमें स्वतंत्रता मिली लेकिन सुराज मिलने का शुभारंभ माननीय नरेन्द्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद से हुआ। केंद्र और राज्य सरकार के संयुक्त प्रयास से कोयल जलाशय का शुभारंभ हुआ। विकास की दौड़ में पीछे रह गये चतरा को राज्य सरकार ने स्टील प्लांट दिया। यहां के लोगों के मन में उग्रवाद नहीं, जमीं पर उग्रवाद है। अगर मन में होता तो सरकार आपके द्वार में इतनी संख्या में लोग एकत्र नहीं होते।

 

%d bloggers like this: