रांची से 21 साइबर अपराधी गिरफ्तार

 

रांची। रांची पुलिस को साइबर अपराधियों के खिलाफ बड़ी सफलता मिली है। रांची पुलिस और कर्नाटक पुलिस ने संयुक्त रूप से छापेमारी कर 21 साइबर अपराधियों को बुधवार को रांची से गिरफ्तार किया है। ये साइबर अपराधी बिहार, कर्नाटक, तेलंगाना, तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश के रहने वाले हैं। ये लोग रांची के पटेल नगर में रहकर अपने काम को अंजाम देते थे।

कर्नाटक पुलिस के अधिकारी ने बताया कि कर्नाटक पुलिस इनके नंबर को ट्रेस कर रही थी। मोबाइल लोकेशन से हमें इनके रांची में रहने का पता चला। रांची पुलिस को हमने इसकी जानकारी दी और संयुक्त रूप से छापेमारी कर इन्हें गिरफ्तार किया। फिलहाल इनसे पूछताछ की जा रही है।

कर्नाटक पुलिस के सब इंस्पेक्टर रघु कुमार ने रांची पुलिस को बताया कि चिकमंगरुलू टाउन थाना में महेश भट्ट ने खुद के साथ ठगी का मामला दर्ज कराया था। महेश को साइबर अपराधियों ने फोन कर बताया कि टाटा सफारी गाड़ी की लॉटरी आपके नाम निकली है। आप टैक्स का एक लाख 40 हजार रूपये एकाउंट में डाल दीजिये। महेश ने रूपये उनकी एकाउंट में जमा कर दिया। पैसे जमा करने के बाद से ही साइबर अपराधियों का मोबाइल स्वीच ऑफ बताने लगा। महेश को जब अहसास हुआ कि वो ठगी का शिकार हो गया है तो वे थाने में अपनी शिकायत दर्ज करवाई।

हालांकि अपराधी यहीं नहीं रूके वे कर्नाटक पुलिस के एक अधिकारी की पत्नि को नौकरी दिलाने के नाम पर एक लाख 50 हजार रूपये की ठगी की। ये लोग अब तक कई लोगों को झांसा देकर करीब तीन करोड़ रूपये की ठगी कर चुके हैं।

साइबर अपराधियों के खिलाफ छापेमारी में हटिया डीएसपी विकास कुमार पांडे, जगन्नाथपुर थाना प्रभारी नरेंद्र कुमार सिंह, जमादार सीपी पांडे, आरक्षी रवि कुमार, सदर्शन महतो थे। इस छापेमारी में पुलिस को अपराधियों के पास से एक लैपटॉप, एक प्रिंटर मशीन, फर्जी नियुक्ति पत्र, 15 एटीएम कार्ड, 65 मोबाइल और 30 हजार रूपये नकद मिले हैं।

%d bloggers like this: