मॉर्डन होंगे बस अड्डे, बढ़ेंगी कस्तूरबा की सीटें

 

रांची।  राज्य कैबिनेट की मंगलवार को हुई बैठक में विभिन्न विभागों के 22 प्रस्तावों को स्वीकृति दी गई। कैबिनेट ने पहले चरण में पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप (पीपीपी) मोड पर 15 निकायों के बस अड्डा के निर्माण की मंजूरी दी।

कैबिनेट की बैठक के बाद कैबिनेट सचिव एसएस मीणा ने कहा कि कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय में सीट बढ़ाने, प्राथमिक स्कूलों में शिशु सदन शुरू करने, विधानसभा का मानसून सत्र 7 अगस्त की बजाए 8 अगस्त से शुरू करने समेत अन्य प्रस्ताव शामिल हैं।

अत्याधुनिक बनेगा बस अड्डा

राज्य में परिवहन सेवा को बेहतर करने के लिए शहरी क्षेत्र के बस अड्डों का जीर्णोद्धार होगा। इसे अत्याधुनिक रूप दिया जाएगा। एसएस मीणा ने बताया कि पहले चरण में गुमला, पलामू, गिरिडीह, कोडरमा, धनबाद, दुमका, गोड्डा, सिमडेगा, हजारीबाग, रांची, चाईबासा, जमशेदपुर, मानगो, बोकरो और देवघर में बस अड्डा बनेगा। इन जगहों पर तीन एकड़ से लेकर एक एकड़ तक बस अड्डा के नाम पर जमीन उपलब्ध है।

यह राष्ट्रीय स्तर का अत्याधुनिक बस अड्डा होगा। यहां बस पड़ाव के साथ-साथ व्यवसायिक गतिविधियों का केंद्र बनाया जाएगा। मॉल और मल्टिप्लेक्स के निर्माण की योजना है।

कस्तूरबा गांधी में बढ़ेंगी 5075 सीटें

राज्य के 203 कस्तूरबा गांधी विद्यालय में कक्षा 6 तथा 9 में 50 के बदले 75 बालिकाओं के नामांकन का निर्णय लिया गया। इस तरह 5075 बालिकाओं का नामांकन हो सकेगा।

शिशु सदन में पढ़ेंगे बच्चे

इसके अलावा सभी सरकारी प्राथमिक विद्यालयों में कक्षा एक से पहले शिशु सदन नाम से एक साल की पूर्व प्राथमिक कक्षा शुरू करने का निर्णय लिया गया। इसमें पांच वर्ष से अधिक उम्र के बच्चों का नामांकन हो सकेगा।

%d bloggers like this: