राष्ट्रपति चुनाव को लेकर विपक्षी दलों ने की बैठक

रांची।  झारखंड की विपक्षी पार्टियों ने राष्ट्रपति चुनाव को लेकर रविवार शाम को पूर्व मुख्यमंत्री व जेएमएम नेता हेमंत सोरेन के आवास पर बैठक की। बैठक में मौजूद सभी पार्टियों ने राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार मीरा कुमार के पक्ष में खड़े नजर आये।

इस बैठक में जेएमएम विधायक-सांसद, झाविमो अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी और विधायक प्रकाश राम, माले विधायक राजकुमार यादव, कांग्रेस से सुखदेव भगत और पूर्व केंद्रीय मंत्री भक्त चरण दास सहित कई नेता मौजूद थे़। बैठक में कहा गया कि यह दो विचारधारा की लड़ाई है़। मीरा कुमार अनुभवी प्रत्याशी हैं। यूपीए के सभी विधायक राष्ट्रपति चुनाव से गोलबंदी की शुरुआत करेंगे। यह लड़ाई आगे भी जारी रहेगी।

जेल में बंद यूपीए विधायकों के वोट के लिए न्यायिक प्रक्रिया सोमवार को जल्द पूरी करने की बात कही गयी।  इसके साथ ही झापा विधायक एनोस एक्का और बसपा विधायक कुशवाहा शिवपूजन मेहता को भी अपने पक्ष में लाने पर भी चर्चा हुई।

बैठक में यह तय हुआ कि सभी विपक्षी विधायक 10.30 बजे तक विधानसभा पहुंचेंगे और पहली पाली में ही अपना वोट सुनिश्चित करेंगे। विपक्ष का दावा है कि यूपीए गठबंधन के विधायकों का आंकड़ा कम से कम 30 विधायकों का रहेगा।

हेमंत सोरेन ने कहा कि हम विचारधारा के साथ मजबूती से खड़े हैं। यूपीए इसी के बूते जुड़ा है। हम राष्ट्रपति चुनाव को पूरी गंभीरता से ले रहे हैं।

प्रदेश काग्रेस अध्यक्ष सुखदेव भगत ने कहा कि सभी विधायकों ने अपनी अंतरात्मा की आवाज पर मीरा कुमार के पक्ष में मतदान करने का निर्णय किया है। विचारधारा की इस लड़ाई में विपक्ष के सभी विधायक मीरा कुमार के पक्ष में खड़े हैं। विचारधारा की यह लड़ाई यहीं खत्म नहीं होगी। इस लड़ाई को हम आगे भी जारी रखेंगे।

%d bloggers like this: