शिव सरोज का अंतिम संस्कार संपन्न, डीएसपी व थानेदार पर प्राथमिकी दर्ज

 

राजन राज, जोहार खबर

धनबाद/रांची। रांची में कथित पुलिस प्रताड़ना से तंग आकर आत्महत्या करने वाले शिव सरोज कुमार का अंतिम संस्कार धनबाद स्थित उसके घर में शनिवार को सम्पन्न हुआ। जवान लड़के की आत्महत्या से पूरा घर सदमें में है। शिव सरोज के पिता सुरेश कुमार ने कहा कि वह अपने एकलौते बेटे की मौत से बेहद दुखी हैं। शिव सरोज का परिवार मूलतः बिहार के रोहतास जिला का रहने वाला है। बीसीसीएल से रिटायर्ड सुरेश कुमार वर्तमान में धनबाद के भूली में रहते हैं।

डीएसपी व थानेदार पर प्राथमिकी दर्ज

शिव सरोज कुमार की आत्महत्या के मामले में रांची सिटी डीएसपी शुंभू कुमार सिंह और चुटिया थाना प्रभारी अजय कुमार वर्मा के खिलाफ शुक्रवार को कोतवाली थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है। आत्महत्या के लिए प्रेरित करने के आरोप में दोनों अफसरों के खिलाफ पिता सुरेश कुमार के बयान पर धारा 306 के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है।

सीआईडी कर रही है जांच

मुख्यमंत्री रघुवर दास के निर्देश पर इस मामले की जांच सीआईडी के अधिकारी कर रहे हैं। सीआईडी के एडीजी अजय कुमार सिंह ने शुक्रवार को चुटिया थाना जाकर पूछताछ से संबंधित वीडियो देखा। सीआईडी के अधिकारियों ने उस होटल की भी जांच की जिसमें शिव सरोज कुमार दिल्ली से आने के बाद ठहरा था। होटल की जांच के बाद अधिकारियों ने कोतवाली थाना जाकर जांच किया। मुख्यमंत्री रघुवर दास को डीजीपी ने इस पूरे मामले की जांच रिपोर्ट शनिवार को सौंप दी है।

क्या है आत्महत्या का मामला

शिव सरोज कुमार दिल्ली से रांची पासपोर्ट बनवाने के लिए मंगलवार को आया था। फ्लाइट से रांची पहुंचने के बाद शिव सरोज होटल रेडिएंट में ठहरा। रात को खाना खाने बाहर निकला तो स्कॉर्पियो सवार कुछ अज्ञात लोगों ने उसका अपहरण कर लिया और बाद में उसे बड़ा तालाब में लाकर फेंक दिया।

पुलिस ने उसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया और उसके पिता को इसकी सूचना दी। रांची पहुंचने पर पिता सुरेश कुमार ने चुटिया थाने में इसकी प्राथमिकी दर्ज करवाई। शिव सरोज और उसके पिता के साथ चुटिया थाना प्रभारी अजय कुमार वर्मा और सिटी डीएसपी शंभू कुमार सिंह ने कथित तौर पर प्रताड़ित किया।

अपने पिता के साथ पुलिस की कथित अभद्रता और प्रताड़ना से तंग आकर शिव सरोज ने दूसरे दिन बुधवार को सेवा सदन अस्पताल के पास पार्किंग में आत्महत्या कर लिया। आत्महत्या के पहले शिव सरोज ने प्रधानमंत्री कार्यालय, डीजीपी, डीआइजी, सीटी एसपी, कई वरीय अधिकारियों और एनजीओ को ईमेल के माध्यम से सुसाइड नोट भेज दिया था।

%d bloggers like this: