विश्व कौशल दिवस पर 20 हजार युवाओं को रोजगार देने का लक्ष्य

 

रांची। मुख्य सचिव राजबाला वर्मा ने निदेश दिया है कि जिन बच्चियों ने कस्तुरबा विद्यालय से इन्टर पास किया है, उनका कॉलेजों में नामांकन कराया जाय। जो बच्चियां स्किल्ड डेवलपमेंट का कोर्स करना चाहती हैं उनका हुनर पोर्टल में निबंधन कराया जाय। मुख्य सचिव ने ये बातें बुधवार को उच्च शिक्षा एवं कौशल विकास विभाग की समीक्षा बैठक में बोल रही थीं।

उन्होंने कहा कि जो बच्चे कॉलेज नहीं जाना चाहते, उन्हें कॉलेज परिसर में ही संचालित स्किल्ड डेवलपमेंट का प्रशिक्षण दें ताकि कम से कम 70 प्रतिशत युवाओं की नौकरी सुनिश्चित की जा सके। साथ ही उन्होंने निर्देश दिया कि ऐसे युवा जो दिन में काम करते हैं और पढ़ने की इच्छा रखते हैं, उनके लिये कॉलेजों में देर शाम की कक्षा प्रारंभ करने की योजना तैयार करें ताकि उन्हें स्किल्ड के साथ-साथ शिक्षा के क्षेत्र में डिग्री भी प्राप्त हो सके।

उन्होंने कहा कि कॉलेज चले अभियान के माध्यम से युवाओं को उच्च शिक्षा के लिये प्रेरित करें। मुख्य सचिव ने निदेश दिया कि प्रबंधन के क्षेत्र में युवाओं में बढ़ती रूचि को देखते हुए विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों में अगले वर्ष से प्रबंधन की शिक्षा आरंभ करने के लिये विस्तृत कार्ययोजना बिन्दुवार तैयार करें ताकि समय पर कक्षाएं प्रारंभ की जा सकें।

उन्होंने कहा कि सरकार का प्रयास है कि सभी अनुमंडलों में पॉलिटेक्निक कॉलेज खोले जाय। इसके तहत कई अनुमंडलों में कॉलेज निर्माण का कार्य पूर्ण किया जा चुका है साथ ही कई अनुमंडलों में कॉलेज भवन निर्माण की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गई है।

समीक्षा के क्रम में मुख्य सचिव ने कहा कि कौशल विकास कार्यक्रम के तहत राज्य के युवाओं को बृहत पैमाने पर स्किल्ड किया जा रहा है। इन युवाओं को रोजगार देने के लिये 12 जनवरी 2018 को विश्व युवा दिवस के अवसर पर ऐसी कार्ययोजना तैयार करें, जिससे कम से कम 20 हजार प्रशिक्षित युवाओं को नियुक्ति पत्र दिया जा सके।

विभागीय सचिव ने बताया कि राज्य के युवाओं को रोजगारपरक कौशल विकास करने की दिशा में बहुत तेजी से कदम बढ़ाया रहा है, इस हेतु राज्य में 5 मेगा स्किल सेंटर का प्रारंभ किया जा चुका है, साथ ही 5 नये मेगा स्किल सेंटर को भी अगस्त माह में प्रारंभ कर दिया जायेगा।

उन्होंने बताया कि राज्य में वर्तमान में कुल 84 प्रशिक्षण केन्द्रों में 490 बैच के कुल 14181 प्रशिक्षणार्थी प्रशिक्षणरत हैं तथा 2585 प्रशिक्षणार्थियों को प्रशिक्षित किया जा चुका है। विभागीय सचिव ने बताया कि प्रशिक्षुओं को आकर्षित करने के लिये पंचायत सचिवालय के माध्यम से लाभुकों के मोबलाइजेशन एवं प्रज्ञा केन्द्र के माध्यम से हुनर पोर्टल पर पंजीकरण हेतु कार्रवाई की जा रही है।

विभाग द्वारा बताया गया कि अगले वित्तीय वर्ष से 04 शाखाओं में पढ़ाई प्रारंभ करने हेतु आवश्यक कार्रवाई की जा रही है साथ ही कोर्स एक्सपेंसन को देखते हुए अतिरिक्त पद सृजन की कार्रवाई प्रारंभ कर दी गई है। बैठक में मुख्य रूप से सचिव उच्च शिक्षा एवं कौशल विकास विभाग अजय कुमार सिंह सहित कई पदाधिकारी उपस्थित थे।

 

%d bloggers like this: