झारखंड के 6 सदस्यीय युवा दल यूरोप रवाना   

 

रांची। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने “11वें अतंरराष्ट्रीय पीयरे डि कुबर्टिन युवा फोरम” के लिए भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले संत जेवियर्स स्कूल के 6 युवा सदस्य दल को राष्ट्र ध्वज देकर बुधवार को रवाना किया। यह यूथ फोरम 19 से 26 अगस्त तक यूरोप के इस्टोनिया में आयोजित होगा। इस आयोजन में 6 सदस्यीय युवा दल पूरे विश्व के सामने भारतीय योग, ध्यान, खेल-कूद एंव झारखण्ड के लोक-नृत्य का प्रदर्शन करेंगे।

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड में खेल प्रतिभा की कमी नहीं है। हम छात्र जीवन से ही बच्चों की प्रतिभा निखारेंगे, तभी ओलंपिक में भारत के लिए ज्यादा से ज्यादा गोल्ड जीतने का सपना पूरा हो पायेगा। सरकार इसमें हरसंभव मदद को तैयार है।

उन्होंने कहा कि युवा राष्ट्र की शक्ति हैं तथा भारत के भविष्य का स्वरूप युवा ही तय करेंगे। जिला और ग्रामीण स्तर पर युवा गतिविधि एवं खेलों को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने कमल क्लब का गठन किया है।

मुख्यमंत्री ने आईपीसीए के सदस्यों से कहा कि सरकारी स्कूलों के बच्चों को भी विशेष रूप से प्रशिक्षित कर अपने साथ जोड़ें। हमारे सरकारी स्कूलों के गरीब बच्चे काफी प्रतिभावान हैं। उन्हें मौका मिलेगा तो वह किसी से पीछे नहीं रहेंगे।

बच्चों का हौसला बढ़ाते हुए मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि झारखंड और भारत का नाम ऊंचा करके आयें। माता-पिता ने बच्चों को अच्छे संस्कार दिये, इसका नतीजा दिख रहा है।

आयोजन के बारे में जानकारी देते हुए भारतीय पीयरे डि कुबर्टिन एसोसिएशन (आईपीसीए) के संरक्षक पूर्व गृह सचिव जे.बी. तुबिद ने बताया कि आईपीसीए को अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक कमेटी ने मान्यता दी है। भारत में इसका मुख्यालय रांची में होगा। इस कमेटी के तहत यह पहला बैच अंतरराष्ट्रीय स्तर पर होने वाले युथ फॉरम में भाग लेने जा रहा है। यह झारखण्ड के लिए गौरव की बात है तथा अच्छी शुरूआत है।

उन्होंने कहा कि यह संस्था ओलंपिक खेलों के मूल उद्देश्यों और मूल्यों को युवाओं के बीच बढ़ावा देता है। इस्टोनिया में पूरे विश्व के सामने भारतीय योग, ध्यान, खेल-कूद, झारखण्ड के लोक नृत्य आदि का प्रदर्शन ये बच्चे करेंगे।

कला संस्कृति एवं खेल-कूद विभाग के सचिव राहुल शर्मा ने कहा कि अप्रैल 2017 में अन्तर्राष्ट्रीय पीयरे डि कुबर्टिन समिति की उप महासचिव ने झारखण्ड का दौरा कर रांची, बोकारो सहित विभिन्न जिलों के स्कूलों का भ्रमण कर अपनी रिपोर्ट दी। जिसके आधार पर संत जेवियर विद्यालय के पांच छात्र और एक शिक्षक इस विश्व स्तरीय युथ फॉरम में हिस्सा लेने जा रहे हैं। झारखण्ड सरकार उन्हें हर सम्भव सहायता और सहयोग प्रदान कर रही है।

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव संजय कुमार, आईपीसीए के संरक्षक पूर्व गृह सचिव जे.बी. तुबिद, कला संस्कृति और खेलकूद विभाग के सचिव राहुल शर्मा, आईपीसीए के अध्यक्ष दिलीप तिर्की, महासचिव सरोजनी लकड़ा सहित एसोसिएशन के सभी सदस्य, संत जेवियर के प्राचार्य, प्रतिनिधिमंडल के सदस्य हर्षित पंजवानी, अमायरा निरजा, उत्कर्ष सिंह, शैली खलको, आशीष श्रेयांस एक्का, डेनिस डासन(शिक्षक) तथा उनके अभिभावक उपस्थित थे।

 

%d bloggers like this: