मनरेगाः मृत मजदूरों के नाम 78 हजार की निकासी

पाकुड़। पाकुड़ जिले के अमड़ापाड़ा प्रखंड मुख्यालय परिसर में प्रखंड स्तरीय मनरेगा एवं 14 वें वित्त योजनाओं का सामाजिक अंकेक्षण पर बुधवार को जन सुनवाई किया गया। इस जन सुनवाई में सामाजिक अंकेक्षण टीम के सदस्यों ने प्रखंड में संचालित योजनाओं का एक सप्ताह पूर्व निरीक्षण किया था। जिसका बुधवार को जिला परिषद सदस्य फुल्मुनी मरांडी, बीडीओ रोहित सिंह, शाहबाज शेख, प्रभारी सहायक योजना पदाधिकारी सुनीता किस्कू, सीओ शफी आलम के समक्ष प्रस्तुत किया।

सोशल टीम ने सबसे पहले पाडेरकोला पंचायत में योजनाओं में गड़बड़ी, मनरेगा मजदूरों के नाम फर्जी निकासी, मृत मजदूरों के नाम पैसा निकासी का मामलें पर विचार किया। तालाब, डोभा निर्माण में अवैध निकासी के बारे में सामाजिक अंकेक्षण की टीम ने बताया।

बोहड़ा पंचायत में भी मृत मनरेगा मजदूरों के नाम फर्जी निकासी का मामला सामने आया। जिसे ग्रामीणों को टीम ने बताया। आलुबेडा, पचुवाड़ा, डूमरचीर, बासमती, जामुगडीया, अमड़ापाड़ा संथाली, जराकी पंचायतों में तालाब, डोभा, मजदूरों का काम ना मिलना, बिना काम किए मजदूरों के नाम पर हजारों रुपया का अवैध निकासी का मामला टीम के सदस्यों ने उपस्थित प्रखंड अधिकारी एवं ग्रामीणों के समक्ष रखा।

मंच पर उपस्थित अधिकारी ने सभी पंचायत सेवक, मुखिया, रोजगार सेवकों को 10 से 15 दिनों के अंदर अधूरे कार्य एवं अपने-अपने कार्य को सुधारने का निर्देश दिया गया। अगर समय पर कार्य को पूरा नहीं किया गया या किसी भी प्रकार लापरवाही किया गया तो संबंधित पंचायत सेवक, रोजगार सेवक पर गबन एवं धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया जायेगा।

पाडेरकोला पंचायत में 11 मृत मजदूरों के नाम 78 हजार 8 सौ 24 रुपया का अवैध निकासी हुआ है। बोहडा पंचायत में छह योजना में फर्जी निकासी की जानकारी टीम ने दिया। इस सामाजिक अंकेक्षण में सभी पंचायत के मुखिया, पंचायत सेवक, रोजगार सेवक एवं ग्रामीण मौजूद थे।

संवाददाता: विनोद किशोर

%d bloggers like this: