साहेबगंज में उत्पाती हाथी को मार गिराया गया

 

राजन राज, जोहार खबर

साहेबगंज। झारखंड और बिहार के जंगली इलाकों में कई लोगों की जान लेने वाले उत्पाती हाथी को साहेबगंज के जंगलों में मार गिराया गया। इस उत्पाती हाथी ने साहेबगंज जिले में 11 लोगों को कुचल कर मार दिया था। हंटर शहफत अली ने साहेबगंज जिले के करनपुरा के जंगलों में शुक्रवार को मार गिराया गया।

इस उत्पाती हाथी को पकड़ने के लिए वन विभाग ने काफी प्रयास किये थे। पश्चिम बंगाल के बाँकुड़ा जिले से एक टीम को भी बुलाया गया था, जो हाथी को दूर तक खदेड़ सके। लेकिन ऐसा करने में बाँकुड़ा की टीम सफल नहीं हो पाई। अंत में वन विभाग के मुख्य प्रतिपालक लाल रत्नाकर सिंह ने लोगों की जान बचाने के लिए हाथी को मारने का आदेश दिया। शुक्रवार के सुबह करीब 6 बजे करनपूरा पंचायत के जंगल में हंटर नवाब शहफत अली खान के टीम ने मार गिराया।

तक़रीबन 20 से भी ज्यादा हंटिंग ऑपरेशन कर चुके हंटर नवाब शहफत अली खान ने पत्रकारों को बताया कि यह ऑपरेशन काफी मुश्किल था, हाथी ज्यादातर रात में ही लोगों के घरों पर अटैक करता था,जिस कारण हाथी को ट्रैक करना काफी कठिन था। 2 बार तो हाथी ने हंटर नवाब की टीम पर भी अटैक कर दिया था।

 

सत्यजीत सिंह ने किया हाथी के मरने की पुष्टि

क्षेत्रीय वन संरक्षक सत्यजीत सिंह ने शनिवार को हाथी के मरने की पुष्टि की। हाथी को मारने के बाद उसका पोस्टमार्टम कराया गया। अंत में पूरी टीम के उपस्थिति में उसका अंतिम संस्कार कर दिया। इस अभियान में मुख्य वन संरक्षक सत्यजीत सिंह, वन संरक्षक एन के सिंह, भगवान बिरसा मुंडा जैविक उद्यान  रांची के पशु  चिकित्सक डॉ अजय कुमार, साहिबगंज वन मंडल पदाधकारी मनीष तवारी और अन्य कई पदाधिकारी शामिल थे।

%d bloggers like this: